Tweets from PFL News
क्योंकि सच को जरूरत थी
शुक्रवार, 14 जून 2024
ब्रेंकिग
न्यूज 

कोस्टगार्ड का पेपर हल करने के लेते थे 15 लाख:कंप्यूटर लैब को किराए पर लिया, ऐप से करते हैक; गैंग के 6 सदस्य गिरफ्तार-रविंद्र भाटी को धमकी देने वालों का हो एनकाउंटर:मारवाड़ राजपूत सभा के अध्यक्ष बोले- गोगामेडी को खो चुके; जेड श्रेणी की मिले सुरक्षा

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा -बड़े अस्पतालों को फ्री करना पड़ेगा इलाज: हॉस्पिटल खुद राइट टू हेल्थ से जुडे़ंगे ऐसे नियम बनाएंगे

433 days ago   -    355 views

PFL News - स्वास्थ्य मंत्री ने कहा -बड़े अस्पतालों को फ्री करना पड़ेगा इलाज: हॉस्पिटल खुद राइट टू हेल्थ से जुडे़ंगे ऐसे नियम बनाएंगे

हेल्थ मिनिस्टर परसादी लाल मीणा ने कहा है कि राइट टू हेल्थ (RTH) बिल के तहत बड़े प्राइवेट अस्पतालों को फ्री इलाज करना ही पड़ेगा। बिल को इसी महीने राज्यपाल से मंजूरी मिल जाएगी।

मई से स्वास्थ्य का अधिकार राजस्थान में लागू कर देंगे। नियम लागू होते ही बड़े अस्पतालों को इमरजेंसी की हालत में मरीज का फ्री इलाज करना पड़ेगा। हेल्थ मिनिस्टर शुक्रवार को नई दिल्ली कांग्रेस मुख्यालय (AICC) में मीडिया से बातचीत कर रहे थे।

 

मीणा ने कहा कि प्राइवेट अस्पताल RTH बिल का विरोध कर रहे थे। हमने बिल वापस लेने से या बिल में संशोधन करने से साफ मना कर दिया, लेकिन नियमों में हम उनकी मांगों को शामिल कर रहे हैं। आज जो प्राइवेट अस्पताल विरोध कर रहे हैं, नियम बनने के बाद वे इसका स्वागत करेंगे।

जिस तरह चिरंजीवी योजना से 1000 प्राइवेट अस्पताल जुड़े हैं, उसी तरह राइट टू हेल्थ से भी जुड़ेंगे। हमने किसी को बाध्य नहीं किया है। 50 बेड से कम वाले अस्पतालों को RTH के दायरे में नहीं लिया है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि जिन अस्पतालों ने सरकार से मुफ्त या रियायती दर पर जमीन ली है, जो सरकारी सहायता ले रहे हैं। उन बड़े अस्पतालों को तो इमरजेंसी में फ्री इलाज करना ही होगा।

सरकारी अस्पताल पहले से ही दायरे में हैं। हमारे सरकारी संसाधन बहुत हैं, वे इलाज करेंगे। हमने घोषणा पत्र में राइट टू हेल्थ कानून बनाने का वादा किया था, हमने जनता से किए वादे को लागू कर रहे हैं।

भगवान राम के भी इमरजेंसी आई थी

परसादी लाल मीणा ने कहा कि इमरजेंसी में इलाज करना डॉक्टर का धर्म है। भगवान राम के भी इमरजेंसी आई थी, जब लक्ष्मण को शक्तिबाण लगा था। उस वक्त दुश्मन के वैद्य ने लक्ष्मण का इलाज किया था। बताया था कि इनके लिए संजीवनी बूटी चाहिए। अगर संजीवनी बूटी नहीं मिलती तो लक्ष्मण की जान नहीं बचती। यह होता है डॉक्टर का धर्म।

विश्व स्वास्थ्य संगठन की भी गाइडलाइन है कि इमरजेंसी की हालत में डॉक्टर को इलाज करना चाहिए। डॉक्टर का प्रोफेशन बहुत नोबल प्रोफेशन माना जाता है। 

राहुल गांधी के कहने पर चिरंजीवी की सीमा 25 लाख की
परसादी ने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने चिरंजीवी योजना सहित सरकारी योजनाओं की एग्जीबिशन को देखा था। चिरंजीवी योजना से बहुत प्रभावित हुए थे।

राहुल गांधी ने तब पूछा था कि चिरंजीवी योजना के बाद अगला कदम क्या होगा, तब मुख्यमंत्री ने कहा था कि अब हम राइट टू हेल्थ लागू करेंगे। चिरंजीवी योजना में पहले 10 लाख तक का फ्री इलाज होता था। अब राहुल गांधी के कहने पर इसकी सीमा को 25 लाख रुपए किया है।

हेल्थ पर बजट का 7 फीसदी खर्च कर रही है राजस्थान सरकार
हेल्थ मिनिस्टर ने कहा कि राजस्थान स्वास्थ्य के क्षेत्र में मॉडल बनकर उभरा है। आज राजस्थान मॉडल की चर्चा है। बीजेपी राज के समय हेल्थ के क्षेत्र में तीन फीसदी बजट था, आज हमने इसे बढ़ाकर सात फीसदी कर दिया है। जो नेशनल एवरेज से भी ज्यादा है।

Tags @parsadi lal meena@rajgovt@pfl news

संबंधित पोस्ट