Tweets from PFL News
क्योंकि सच को जरूरत थी
मंगलवार, 16 अप्रैल 2024

हनुमान जन्मोत्सव पर महा महोत्सव:हनुमान भक्तों को बांटे जाएंगे 4500 किलो देशी घी के लड्डू,अटूट भंडारा चलेगा 20 घंटो तक

375 days ago   -    245 views

PFL News - हनुमान जन्मोत्सव पर महा महोत्सव:हनुमान भक्तों को बांटे जाएंगे 4500 किलो देशी घी के लड्डू,अटूट भंडारा चलेगा 20 घंटो तक

अलवर जिले के बहरोड़ कस्बे में पिछले 48 घंटों से मेगा महोत्सव की तैयारियां चल रही हैं। 6 भट्टियों पर 10 हलवाई लगातार बूंदी छान रहे हैं। 20 लोग दिन-रात हर समय लड्डू बना रहे हैं। उनके हाथ दो दिनों से बिल्कुल नहीं थमे हैं, क्योंकि इन्हें भंडारे के लिए 35 क्विंटल यानी करीब एक लाख लड्डुओं को तैयार कर बजरंग बली हनुमान के भक्तों में प्रसादी के रूप में बांटना है, क्योंकि आज कस्बे के बस स्टैंड स्थित पंचमुखी हनुमान मंदिर में विशाल हनुमान महोत्सव मनाया जा रहा है, जिसमें करीब 30 हजार लोग पंचमुखी हनुमान के दर्शन कर प्रसादी ग्रहण करने पहुंचेंगे।

इस दौरान पंचमुखी हनुमान मंदिर पर भव्य सजावट की गई है। इस महा महोत्सव का आयोजन पंचमुखी हनुमान मंदिर सेवा समिति की ओर से किया जा रहा है। समिति के अध्यक्ष कवित कुमार गुप्ता ने बताया कि बुधवार से ही मंदिर में अखंड रामायण पाठ कार्यक्रम शुरू हो चुका है। गुरुवार सुबह कन्या पूजन के बाद से देर रात तक लगातार भंडारा कार्यक्रम आयोजित होगा।

महोत्सव की व्यवस्था में लगे समिति सचिव शीशराम पोसवाल के मुताबिक भंडारे के लिए 23 बोरी चीनी, 60 टिन देशी घी, 25 टिन सरसों का तेल, 110 क्विंटल आटा, 35 क्विंटल कद्दू, 1 क्विंटल कैरी, 20 क्विंटल आलू, 13 क्विंटल बेसन और 60 गैस सिलेंडर मंगवाया गया है। पीने के पानी के चार टैंकर रहेंगे।
कस्बें के नए बस स्टैंड़ पर पंचमुखी हनुमान मंदिर के सामने भंडारे का आयोजन होता है। यहां भंडारे के एकदिन पहले से बसों का ठहराव नहीं होता। यहां महिलाओं और पुरुषों के लिए अलग-अलग टैंट की व्यवस्था रहती है। दोनों टेंटों में अलग-अलग प्रवेश ओर निकासी द्वार होता है। प्रवेश द्वार पर पत्तल-दौना लिए महिलाएं या पुरुष बैठे रहते हैं। श्रद्धालु खुद पत्तल लेकर लाइन (पंगत) में बैठा है। वहीं प्रसादी सर्व (परोसने) करने वाला पहुंच जाता है।

करीब 18 लाख रुपए की जनसेवा से भंडारा
भंडारे में करीब 18 लाख रुपए खर्च होने का अनुमान है। यह सब बाबा के भक्तों के द्वारा जन सहयोग से किया जाता है। शहर के व्यापारी, उद्यमी एवं भक्तों के द्वारा राशि एकत्रकर भंडारा आयोजित किया जाता है। इसकी तैयारियां एक बार माह पहले शुरू हो जाती है। कमेटी के लोग शहर के भामाशाहों ओर दानदाताओं को टटोलना शुरू कर देते हैं।

Tags bajrangbali bjp pflnews

संबंधित पोस्ट