Tweets from PFL News
क्योंकि सच को जरूरत थी
बुधवार, 24 जुलाई 2024
ब्रेंकिग
न्यूज 

कोस्टगार्ड का पेपर हल करने के लेते थे 15 लाख:कंप्यूटर लैब को किराए पर लिया, ऐप से करते हैक; गैंग के 6 सदस्य गिरफ्तार-रविंद्र भाटी को धमकी देने वालों का हो एनकाउंटर:मारवाड़ राजपूत सभा के अध्यक्ष बोले- गोगामेडी को खो चुके; जेड श्रेणी की मिले सुरक्षा

कल होगा नई संसद का इनॉगरेशन, पीएम को सेंगोल भेट करेंगे चेन्नई के 21 संत

423 days ago   -    192 views

PFL News - कल होगा नई संसद का इनॉगरेशन, पीएम को सेंगोल भेट करेंगे चेन्नई के 21 संत

नए संसद भवन का इनॉगरेशन रविवार को होगा। नया भवन देश की विविध संस्कृति से जुड़ा है। इसे बनाने में देश के हर कोने से लाया गया सामान लगाया गया है। इसकी फ्लोरिंग त्रिपुरा के बांस से की गई है, तो भवन के लिए सागौन की लकड़ी नागपुर से मंगाई गई है। वहीं, लोकसभा-राज्यसभा की विशाल दीवार और संसद के बाहर लगा अशोक चक्र इंदौर से मंगाया गया है।

 

इनॉगरेशन कार्यक्रम में शामिल होने और प्रधानमंत्री मोदी को सुनहरा राजदंड (सेंगोल) भेंट करने के लिए चेन्नई के धर्मपुरम अधीनम के 21 संत चेन्नई से दिल्ली रवाना हो गए हैं। ये संत पीएम मोदी को देने के लिए अपने साथ एक खास तोहफा भी लाए हैं।

 

नए भवन में त्रिपुरा के बांस की फ्लोरिंग, सीलिंग की संरचना दमन-दीव से मंगाई गई

 

नए संसद भवन में देश के हर क्षेत्र की झलक देखने को मिलेगी। इसकी फ्लोरिंग त्रिपुरा के बांस से की गई है। कालीन मिर्जापुर का है। लाल-सफेद सैंड स्टोन राजस्थान के सरमथुरा का है। वहीं निर्माण के लिए रेत हरियाणा के चरखी दादरी से और भवन के लिए सागौन की लकड़ी नागपुर से मंगाई गई है।

 

भवन के लिए केसरिया हरा पत्थर उदयपुर, लाल ग्रेनाइट अजमेर के पास लाखा और सफेद संगमरमर राजस्थान के ही अंबाजी से मंगवाया गया है। लोकसभा और राज्यसभा की फाल्स सीलिंग में लगाई गई स्टील की संरचना दमन-दीव से मंगाई गई है। वहीं, संसद में लगा फर्नीचर मुंबई में तैयार किया गया। पत्थर की जाली का काम राजस्थान के राजनगर और नोएडा से करवाया गया।

 

संसद के बाहर लगा अशोक चक्र इंदौर का

 

प्रतीक चिह्न अशोक स्तंभ के लिए सामग्री महाराष्ट्र के औरंगाबाद और राजस्थान के जयपुर से बुलाई गई। वहीं लोकसभा-राज्यसभा की विशाल दीवार और संसद के बाहर लगा अशोक चक्र इंदौर से मंगाया गया है।

 

पत्थर की नक्काशी का काम आबू रोड और उदयपुर के मूर्तिकारों ने किया है। पत्थर राजस्थान के कोटपूतली से लाए गए। फ्लाई ऐश ईंटें हरियाणा और उत्तर प्रदेश से मंगवाई गईं, जबकि पीतल के काम और सीमेंट के बने-बनाए ट्रेंच अहमदाबाद से लाए गए।

Tags @new parliyament @central vista @pm modi #PFL News

संबंधित पोस्ट